दोस्तों कल मेरे पास किसी शुभचिंतक का फ़ोन आया था की आप अकेलापन पर कुछ लिखिए, फिर मैंने बोला ठीक है मै लिखने की कोशिश करूंगा.

आज मै अकेलापन पर लिखने की कोशिस कर रहा हूँ , शायद आपको पसंद आये।

जिंदगी का अकेलापन क्या है: 

Welcome to जिंदगी का अकेलापन

दोस्तों अकेलेपन को महसूस कोई भी, किसी भी उम्र में कर सकता है। हर व्यक्ति अपने जीवनकाल में कभी ना कभी अकेलापन महसूस करता ही है।

हमे मालूम होना चाहिए की अकेलापन एक feeling है और जब हमे ऐसी फीलिंग होती तब हम भावनात्मक रूप से कमज़ोर होने लगते है और अपना अकेलापन दूर करने के लिए हम नये लोगो को Search करने लगते है। इसमें कोई बुराई है नहीं है , अगर दुनिया में बुरे लोग है तो अच्छे लोग भी है।

दोस्तों कभी भी अपने दुख पर ज्यादा ध्यान मत दो, क्योंकि ध्यान भोजन के समान है, आप जितना ध्यान देते हो तो वो चीज़ उतनी ही मजबूत होती जाती है। दिमाग की छोड़ दिल की सुनो। कम सोचो, महसूस  ज्यादा करो।अपने आप को दूसरों की राय के अनुसार न बनायें।

अकेलेपन को ऐसे करें दूर :



1 . हंसो जब भी मन हो :


दोस्तों आप कभी भी किसी भी छोटी से छोटी वस्तुओं पैर हंसो। ये मत सोचो की जब कोई बड़ी बात होगी तो तब हँसेंगे।  मन हो डांस करो, गाना गाओ। मन की शांति और अकेलेपन को दूर करने के लिए इंसान का हंसना बहुत जरूरी है।

2 . मनपसंद गाने सुनें: 


संगीत हमारे दिल और दिमाग को सुनहरा करने का सबसे अच्छा प्रमाण है। इसलिए जब भी आप अकेला महसूस करते हो तो अपने मनपसंद गाने सुनें। इससे आपके दिमाग सेअकेलापन के विचार दूर होते है। 

3 . Social Sites को देखें :


दोस्तों हंसी -मजाक करने के लिए फेसबुक, व्हाट्सप्प जैसे बेहतरीन सोशल नेटवर्क्स आ चूंकि हैं। इसलिए अगर आपको अकेलापन महसूस हो रहा है आप फेसबुक और व्हाट्सप्प पर motivational, Entertainment सोशल ग्रुप ज्वाइन करें।

4 . लोगों के नजरिओ को देखो :


दोस्तों यह थोड़ा आपको अजीब सा लगेगा लेकिन यह भी अकेलेपन को दूर करने का एक मजेदार उपाय है।

5 .  Dairy लिखे :


आप अपनी Feelings और विचारो पर नज़र रखने के लिए लिखना शुरू कर सकते है। यह तनाव कम करने की भी एक उत्तम विधि है , आप अपने लिए कुछ  समय  जरूर निकले। 

6 . खुद के पर्सनल दोस्त बनाओ : 


आप खुद से दोस्ती करिये , खुद को प्यार करिये , खुद को समझिये , जानिए। अपनी पसंद जानिए , कभी – कभी अकेले ही घूमने जाइये। 


दोस्तों अंत में बस यही कहूंगा की आप सबसे पहले अपने Negative एवं बुरे Thoughts को खत्म करिये। हमेशा अकेलापन पर Focus करना आपको और भी अकेला कर सकता है।  आपके जिंदगी में जो भी रिश्ते है उनसे attach रहिये , अकेलेपन के विचार से उन रिश्तो से दुरी मत बनाइये। 

दोस्तों आपसे Request  है कि , मेरी बातो पर सही से  सोचियेगा ,जरूर अगले ब्लॉग में फिर मिलेंगे, एक नए टॉपिक पर,  तब तक के लिए हंसते -रहिए ,हँसते – रहिए ,जीवन अनमोल है, मुस्कुराते रहिए ! 

धन्यवाद 



2 Comments

Nishant said…
Nicely explained
Thank u very Much