पति और पत्नी के रिश्ते को मजबूत कैसे बनाएं


दोस्तों आज मै पति और पत्नी के रिश्तो पर आलेख लिखने की कोशिश कर रहा हूँ , शायद आपको अच्छा लगे। 

दोस्तों पति-पत्नी का रिश्ता इस दुनिया का सबसे खास रिश्ता होता है।  कहा जाता हैं की जोड़िया स्वर्ग में बनती हैं।  और धरती पर उनका मिलन होता हैं।  पति-पत्नी के रिश्ते को सारे रिश्तो में से सबसे अलग माना जाता हैं।  पति-पत्नी के रिश्ते में बहुत सी खट्टी-मीठी बाते होती हैं। पति-पत्नी दोनों एक दूसरे को बिना जाने अपना लेते हैं। और फिर सारी उम्र के लिए एक दूसरे को अपना लेते हैं। और जिंदगी के हर एक अच्छे बुरे लम्हे को साथ मिलकर जीते हैं। 

Welcome to पति पत्नी सुविचार

पति-पत्नी के रिश्ते में सबसे जरुरी हैं एक दूसरे का सम्मान,  एक दूसरे की इच्छाओ का आदर, एक दूसरे की भावनाओ को समझे, आपस में एक दूसरे के प्रति होने वाले विश्वास को कभी न डगमगाने दे।  एक-दूसरे के प्रति अपने प्यार को कभी कम न होने दे।  हमेशा मिलजुल कर अपने प्यार को बढ़ाने के लिए कुछ न कुछ खास करना चाहिए।  सबसे अहम बात दोनों को अपनी जिंदगी में एक दूसरे को बराबर समझना चाहिए। 

दोस्तों पति-पत्नी भगवान का बनाया हुआ एक अनमोल रिश्ता हैं। पति पत्नी के रिश्ते में बहुत सी ऐसी बाते होती हैं।  जो उनके रिश्ते की टाइम के साथ और भी मजबूत बना देती हैं।  कहा जाता हैं की पति के बिना पत्नी अधूरी होती हैं।  और पत्नी के बिना पति अधूरा होता हैं।  दोनों एक साथ मिलकर अपने आप को पूरा करते हैं।  पति और पत्नी दोनों ही अपने रिश्ते को और भी खूबसूरत बनाने के लिए कुछ करते रहते हैं।  जिनसे उनका रिश्ता और भी प्यारा हो जाता हैं। 

पति और पत्नी के रिश्ते में गुस्से और घमंड के लिए कोई जगह नहीं होनी चाहिए।  गुस्सा और घमंड किसी भी रिश्ते को तोड़ने के लिए बहुत छोटी से वजह होती हैं।  पति और पत्नी के रिश्ते की नींव कई बार इस छोटी सी वजह से कमजोर पड़ जाती हैं।  गुस्सा कई बार होता थोड़े समय के लिए हैं।  परंतु असर बहुत गहरा कर जाता हैं।  इसकी वजह से कई बार मजबूत से मजबूत रिश्ता भी टूटने की कगार पर आ जाता हैं।  कई बार समय के साथ वो रिश्ता टूट भी जाता हैं। 

पति-पत्नी के रिश्ते में दोस्ती होना बहुत जरुरी हैं, क्योकि जब तक वो दोस्त बनकर एक दूसरे को समझेंगे नहीं, तब तक उनके रिश्ते में कुछ न कुछ कमी रहेगी।  पति और पत्नी को आपस में समझने के लिए आपस में थोड़ा समय बिताना चाहिए।  एक दूसरे की बातो को समझना चाहिए।  एक दूसरे की गलती पर लड़ाई करने की बजाय एक दूसरे को समझाना चाहिए।  इससे रिश्ता शीशे की तरह बिलकुल साफ़, सुथरा तथा मजबूत बनता हैं।  और समय के साथ और गहरा होता चला जाता हैं। 

किसी भी रिश्ते की नींव विश्वास पर टिकी होती हैं| हर एक रिश्ते को पनपने में विश्वास का बहुत अहम रोल होता हैं।  जिस रिश्ते में विश्वास नहीं होता वो समय के साथ कमजोर हो जाता हैं।  पति-पत्नी जैसे रिश्ते में यदि विश्वास न हो तो वो केवल नाम का ही रह जाता हैं।  दोनों का एक दूसरे के प्रति विश्वास ही रिश्ते की डोर को मजबूत बनाता हैं।  इसलिए पति-पत्नी के रिश्ते में विश्वास होना बहुत जरुरी हैं। 

पति-पत्नी का एक दूसरे के प्रति सम्मान की भावना रखना बहुत जरुरी है|,यदि वो एक दूसरे को सम्मान नहीं देंगे तो रिश्ता कमजोर हो जाता हैं।  दोनों एक दूसरे की भावनाओ को नहीं समझ पाते।  और कभी-कभी तो उनके बीच उलझने बाद जाती हैं।  और वो एक-दूसरे के प्रति आदर न होने ही वजह से सुलझ भी नहीं पाते , और समय के साथ वो रिश्ता खोखला हो जाता हैं।  और कई बार तो टूट भी जाता हैं।  इसलिए पति-पत्नी को आपस में एक दूसरे का सम्मान करना चाहिए।  और अपने रिश्ते को मजबूत बनान चाहिए। 

पति-पत्नी के रिश्ते में यदि क्रोध और घमंड ने अपनी जगह बनाली, तो उस रिश्ते को टूटने में बिलकुल भी समय नहीं लगता। और उस रिश्ते की जिंदगी थोड़ी ही रह जाती हैं।  पति और पत्नी दोनों ही यदि एक दूसरे को समझते हैं।  तो उनके बीच क्रोध और घमंड कभी नहीं आयेगा।  अपने आप को कभी भी दूसरे से बड़ा न दिखाए, दूसरे की बात को भी स्थान दे, दोनों एक दूसरे से सलाह ले, आदि ये कुछ बाते हैं।  जिनसे एक रिश्ते को मजबूती दी जा सकती हैं।  और पति-पत्नी का रिश्ता तो बहुत अनमोल होता हैं।  इसीलिए इसमें क्रोध और घमंड के लिए कोई जगह नहिओ होनी चाहिए। 

दोस्तों पति-पत्नी के रिश्ते को गहरा करने के लिए एक दूसरे के साथ समय बिताये।  उनकी बाते सुने, उन्हें जानने की कोशिश करे।  उनकी हर एक बात का ध्यान रखे, जिन चीजो से आपके साथी को ख़ुशी मिलती हैं।  उन्हें पूरा करने की कोशिश करे।  उन्हें बाहर घुमाने ले जाये, अपने साथी को आपकी जिंदगी में आने के लिए शुक्रिया कहे, उन्हें अपने बारे में बताये, उनके बारे में जानने की कोशिश करे, तो ये कुछ छोटी-छोटी बाते हैं जिनसे पति-पत्नी ही नहीं बल्कि किसी भी रिश्ते को मजबूत बनाया जा सकता है। 

पति-पत्नी के रिश्ते को गहरा करने के लिए एक दूसरे को बराबर का स्थान दे, और कभी भी अपने आप को बड़ा और अपने साथी को छोटा न समझे।  अपने साथी को अपने सुख-दुःख सबका भागीदार बनाये।  हमेशा उन्हें बराबर का दर्जा दे। दुसरो के सामने भी अपने साथी को वही इज्जत और मान दे जो हमेशा देते हैं, उनके भी जीवन के हर हिस्से में पूरी तरह से शामिल हो जाये।  फिर देखिये आपका रिश्ता आगे बढ़ता ही जायेगा।  और समय के साथ और भी मजबूत हो जायेगा। 

अपने रिश्ते को मजबूत बनाने के लिए हमेशा अपने साथी की कोशिश को ही नहीं देखना चाहिए।  बल्कि अपने रिश्ते को मजबूत बनाए रखने के लिए समय-समय पर खुद भी कोशिश करते रहना चाहिए।  दुसरो की कोशिश को देखकर उनमे गलतियां न निकालकर, बल्कि उनकी गलतियों के साथ अपना बनाने से रिश्ता और भी मजबूत बनता हैं। 

अपनी ख़ुशी से पहले अपने साथी की ख़ुशी में खुश होने से रिश्ता और भी मजबूत हो जाता हैं, और ऐसा रिश्ता समय के साथ और भी सुन्दर और खूबसूरत हो जाता हैं। तो आप भी इन सब बातो को अपना कर अपने रिश्ते को और भी मजबूत और गहरा हो जाता हैं। तो अपने रिश्ते को मजबूत बनाए रखने के लिए आपको इन सब बातो का ध्यान रखना चाहिए। पति पत्नी का रिश्ता संसार में सबसे उत्तम रिश्ता होता है। 

आपको यह  आलेख कैसा लगा कृपया आप  बताए। 

LifeWithAshish

Post a Comment

0 Comments